Ukraine Preaching1
 यूक्रेन में कृष्ण भक्ति ने जो गतिशीलता पकड़ी है वह सचमुच सराहनीय है।  खार्कोव, पूर्वी यूक्रेन  छोटा सा नगर है जहाँ कई कृष्ण भक्त रहते हैं । यह नगर युद्ध-क्षेत्र से केवल १८० किमी दूर है और रूसी सीमा से करीब ६० किमी परन्तु यहाँ पर जन-जीवन सामान्य रूप से चल रहा है। युद्ध का केवल एक ही दुष्प्रभाव यहाँ दिखता है और वो है, मुद्रास्फीति में बढ़त। महंगाई बढ़ रही है परन्तु किसी के वेतन में कोई बढ़त नहीं है। सर्दियों में यहाँ का तापमान शुन्य से २० डिग्री नीचे चला जाता है तब पानी को तरल बनाये रखने के लिए गैस द्वारा गर्म किया जाता है, उस गैस के दाम भी करीब ६ गुना बढ़ गए हैं। भक्तों ने अब गैस छोड़कर लकड़ियों का सहारा लिया है।
इतनी कठिन परिस्थितियों में भक्तों को सत्संग एवं एक दूसरे को प्रोत्साहन देते हुए देखना हमारे लिए प्रेरणा का स्त्रोत है। अस्थिरता, अपराध और हिंसा के कारण कोई वहां जाने की सोच भी नहीं सकता।
Ukraine Preaching3
इन्ही सब के बीच कुछ १०० भक्त चार दिनों के लिए, शहर से ४५ किमी दूर, हरिनाम जप एवं कीर्तन के द्वारा भगवान से अपने सबंध को और गहराई से जानने का प्रयास कर रहे हैं। यहाँ का वातावरण बहुत ही मधुर एवं सामंजस्यपूर्ण है। वे हरिनाम की ध्वनि में खो जाना चाहते हैं। कोई भी अपना समय अनावश्यक बातों या प्रजल्प में व्यर्थ नहीं गवांता। पवित्र हरिनाम का रसपान करने का इस से अच्छा तरीका और क्या हो सकता है।

Ukraine preachingUkraine Preaching2