Chandkazi & Chaitanya Mahaprabhu

चांद काज़ी और चैतन्य महाप्रभु

बांग्लादेश मे अातंवादियों द्वारा एक कैफ़े मे गोलीबारी करने के कुछ ही दिन पहले ढाका से ३०० कि.मी. दूर सतखिरा जिले मे इस्कॉन के एक नामहट्ट केंद्र पर भी अातंकी घटना घटी थी | यह स्थान कोलकाता के उत्तर मे भारतीय सीमा के बहुत ही निकट है |

बांग्लादेश स्थित सतखिरा जिले के ब्रह्मराजपुर गांव मे इस्कॉन का एक मान्यता प्राप्त केंद्र है |

इस केंद्र पर वहाँ के प्रभारी भक्त, भावसिंधु दास अधिकारी स्नानोपरांत प्रातः ४:१५ बजे मंगल-अारती की तैयारियों मे लगे थे जब तीन अातंकी बलपूर्वक मंदिर मे घुस अाए | तीनों अातंकी धारदार चाकुओं एवं तलवार नुमा हथियारों से लैस थे | उन्होंने पुजारी के ऊपर इन हथियारों से उनके गले, पीठ और शरीर के अन्य भागों पर जानलेवा प्रहार किए जिससे वे बुरी तरह से घायल हो गए हैं |

भावसिंधु दास को पहले जिला अस्पताल ले जाया गया परंतु उनकी स्थिति मे कोई सुधार न अाने के कारण गंभीर अवस्था मे हेलीकॉप्टर से ढाका स्थानांतरित कर दिया गया, जहां अब भी वे मृत्यु से जूझ रहे हैं |

ऐसा पहली बार हुअा है कि किसी इस्कॉन के भक्त पर अातंकवादी संगठन द्वारा जानलेवा हमला हुअा है |

सभी से अाग्रह किया जाता है कि कृपया भावसिंधु दास के लिए भगवान से प्रार्थन करें |